पूर्णिया: हर्ष हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, आपसी लड़ाई में शानू ने हर्ष को मारी थी गोली, जिसके कारण हुई थी मौत

आपसी लड़ाई में शानू ने हर्ष को मारी थी गोली, जिसके कारण हुई थी मौत

इंजीनियरिंग छात्र हर्ष झा की हत्या का 24 घंटे के अंदर पूर्णिया पुलिस ने सफल उद्भेदन किया है । घटना में शामिल तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर ली है। साथ ही घटनास्थल पर फायर किया हुआ बुलेट एवं मैगजीन बरामद किया गया है ।

मामले का उद्द्भेदन करते हुए पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने कहा कि इंजीनियरिंग की हर्ष झा हत्याकांड के उद्भेदन को लेकर सदर डीएसपी आनंद कुमार पांडे के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। गठित टीम में के हाट थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह, मधुबनी टीओपी अध्यक्ष श्याम नंदन यादव , सहायक खजांची हाट प्रभारी संजय कुमार सिंह ,तकनीकी शाखा के जितेंद्र राणा, सिपाही सरोज कुमार एवं सिपाही रोहित कुमार शामिल थे। गठित टीम के द्वारा वैज्ञानिक अनुसंधान एवं तकनीकी सर्विलांस के आधार पर 24 घंटे के अंदर इस कांड का उद्भेदन कर लिया गया। उद्भेदन के पश्चात यह बात प्रकाश में आई थी हर्ष झा के दोस्त ज्योति प्रकाश का बीते 23 अगस्त जन्मदिन था।रात्रि 8:30 बजे चूनापुर पुल पर ज्योति प्रकाश का जन्मदिन का पार्टी आयोजित किया गया था ।

फ़ाइल फ़ोटो मृतक हर्ष झा

पार्टी समाप्त होने के पश्चात मृतक हर्ष झा , सानू ,ज्योति दीप के साथ ज्योति प्रकाश के घर में रात में ठहर गए। मंगलवार की सुबह 10:20 बजे घर पर मौजूद लड़कों के बीच उपजे विवाद के दौरान ज्योति प्रकाश के पास मौजूद देसी पिस्तौल से हर्ष के ऊपर सानू के द्वारा गोली चला दी। जिसमें हर्ष झा बुरी तरह घायल हो गए । उसके बाद घायल हर्ष को दिव्यांशु राज चीकू डियूक मोटरसाइकिल पर बैठाकर तथा ज्योति प्रकाश के पीछे बैठा कर सदर अस्पताल लाया गया ।ज्योति प्रकाश के घर पर उसका छोटा भाई ज्योति दीप एवं सानू मिलकर गंजी से घटनास्थल पर गिरा हुआ खून साफ़ कर दिया । और पिस्टल को भी छिपा दिया था। और पुलिस को झूठी कहानी बनाकर दिग्भ्रमित करने का प्रयास करने लगा। विशेष टीम के द्वारा घटनास्थल से फायर किया हुआ गोली तथा एक मैगजीन बरामद किया गया। इस घटना में शामिल तथा साक्ष्य विनिष्ट करने के षड्यंत्र सम्मिलित ज्योति प्रकाश, ज्योति दीप, कुमार सानू को डीएवी चौक से गिरफ्तार किया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed